Big Allegation Leveled Against Dabur 2023 | डाबर पर लग गया बड़ा अरोप

Big Allegation Leveled Against Dabur 2023 | डाबर पर लग गया बड़ा अरोप

FMCG की दिग्गज कंपनी डाबर एक के बाद एक मुश्किलों से घिरता हुआ नजर आ रहा है। पिछले दिन ही कंपनी पर GST नोटिस का वार पारा। वो भी छोटा मोटा नहीं बल्कि पूरे 321 करोड़ का नोटिस पारा है। अब एक और बड़ी खबर आ रही है, वो भी अमेरिका के रास्ते। दअरसल डाबर के 3 सहायक के खिलाफ इन देशो में मामले चल रहे हैं।

Big Allegation Leveled Against Dabur
Big Allegation Leveled Against Dabur

क्या मामला जिसके कारण से विदेशो में भारतीय कंपनी पर केस किया गया है और शेयरो पर कैसे पड़ेगा असर जानेंगे इस खबर में।

डाबर ने दी अरोप के बारे में जानकारी

डाबर ने ये जानकारी दी है कि उनके तीन सहायक के खिलाफ अमेरिका और कनाडा में मामले चल रहे हैं। कंपनी के मुताबिक कुछ ग्राहकों ने अरोप लगाया है, कंपनी के उत्पादों में कुछ ऐसा कैमिकल शामिल है जिसे सेहत पर गंभीर असर देखने को मिल सकता है। अरोप के मुताबिक कंपनी के हेयरकेयर में शामिल कैमिकल से गंभीर बीमारी के होने का अंदेशा है।

Big Allegation Leveled Against Dabur
Big Allegation Leveled Against Dabur

फाइलिंग के अनुसर हेयर रिलेक्सिव प्रोडक्ट में कुछ कंजूमर ने अरोप लगाया है। कि उद्योग ने  रिलेक्सिव प्रोडक्ट के उपयोग से ओवरियन कैंसर, यूट्रिन कैंसर जैसे दूसरे स्वास्थ्य संबंधित इसुज हुए हैं। इस कंपनी के लिए सहायक का नाम आया है वो भी जान लेते हैं। कंपनी ने शेयर बाजार को भेजी जानकारी के अनुसार कहा कि डाबर इंडिया के सहायक नामस्टे लेबोरेट्रीज एलएलसी, डर्मोविवा स्काइन एसेंशियल इंक, डाबर इंटरटेनॉल लिमिटेड भी शामिल है।

ये मामला अमेरिका और कनाडा दोनों देशों के अदालत में दायर किया गया है MDL के पास ऐसे 5400 केस का मामला है। जिनमें सहायक और उद्योग के कुछ और नाम शामिल हैं। बता दे इस पहले मंगल वार को ही कंपनी ने ये जानकारी दी थी कि उसे सरकार के तरफ से 321 करोड़ का नोटिस मिला है। इसमें मूल राशि और ब्याजदर दोनों ही शामिल है। डाबर ने कहा कि इस नोटिस के खिलाफ अपिल करेंगे।

डाबर को GST का नोटिस भेजा गया

यह नोटिस सीजीएसटी एक्ट, 2017 की धारा 74(5) के तहत भेजा गया है। इसे गुड़गांव ज़ोनल यूनिट ने भेजा है। नोटिस में कहा गया है कि कंपनी ने 3,20,60,53,069 रुपये का भुगतान नहीं किया है, इसके साथ ही सीजीएसटी अधिनियम,2017 की धारा 74(5) के तहत उसे लीज वाले ब्याज और जुर्माना भी भरना होगा। अगर कंपनी ऐसा नहीं करती है तो उसे नोटिस जारी किया जा सकता है।

Big Allegation Leveled Against Dabur
Big Allegation Leveled Against Dabur

डाबर ने कहा है कि संबंधित कंपनियों के पास जवाब देते हुए इस नोटिस को चुनौती दी गई है। कंपनी का कहना है कि बकाये के इस नोटिस से उसे तोड़फोड़, ऑपरेशन और सेलेक्शन पर कोई असर नहीं पड़ा है। यदि कोई प्रभाव पड़ता है तो वह अंतिम कर देयता पर होगा, जो ब्याज और जुर्माना कुल मिलाकर तय करेगा। अनाधिकृत कंपनी ने कंपनी को 321 करोड़ का नोटिस भेजा है।

कंपनी इस नोटिस की समीक्षा कर रही है। डाबर इंडिया ने स्टॉक एक्सचेंज को रेगुलेटरी फाइलिंग में बताया कि उसे DGGI (डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ गुड एंड
सर्विसेज टैक्स इंटेलिजेंस) की ओर से टैक्स सूचना का नोटिस मिला है, जिसके तहत उसके तहत 3,20,60,53,069 रुपये का भुगतान किया गया है। .

डाबर पर अरोप लगने पर शेयर में गिरावत दर्ज की गई

हलाकि बुधवार को स्टॉक में गिरावट देखने को मिला और स्टॉक 1.09% के साथ गिरावट के साथ 534 के अस्तर पर बंद हुआ। इस स्टॉक का इस साल लगभग का उच्यतम अस्तर 610 रुपये है और न्यूनतम अस्तर 504 रुपये है। अब देखना होगा कि इस खबर से डाबर पर क्या असर पड़ता है।

ऐसे ही बिजनेस जगत के खबर के लिए बने रहें Investingzill.com पर
और पढ़ें : 
Big Purchases Of Mutual Funds In This Stock 2023 | इस स्टॉक में म्यूचुअल फंड की बड़ी खरीदारी